रूस ने अंतरिक्ष में अपना पहला ह्यूमनॉइड रोबोट फेडोर लॉन्च किया

Posted On :-

Posted By :-

रूस ने गुरुवार को इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (आइएसएस) के लिए मानवरहित रॉकेट लांच किया। यह रॉकेट एक आदमकद रोबोट को लेकर अपने साथ ले जा रहा है। फेडोर नामक यह रोबोट दस दिनों तक आइएसएस पर रहेगा और अंतरिक्ष यात्रियों की मदद करना सीखेगा। रूस ने धरती की परिक्रमा कर रहे कृत्रिम उपग्रह आइएसएस पर पहली बार रोबोट भेजा है।


 

फेडोर को कजाखस्तान के बैकानूर अंतरिक्ष केंद्र से सोयूज एमएस-14 अंतरिक्ष यान से स्थानीय समयानुसार सुबह छह बजकर 38 मिनट पर रवाना किया गया। सोयूज शनिवार को आइएसएस पर पहुंचेगा और सात सितंबर तक वहां रहेगा। सोयूज आमतौर पर अंतरिक्षयात्रियों को लेकर आइएसएस पर जाता है, लेकिन इस बार आपातकालीन बचाव प्रणाली की जांच के लिए इसे मानवरहित रवाना किया गया है। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख दमित्री रोगाजिन ने इस महीने की शुरुआत में रोबोट की तस्वीरें राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को दिखाई थीं। तब उन्होंने कहा था कि यह आइएसएस पर अंतरिक्ष यात्रियों की सहायता करेगा।


फेडर के बारे में


फेडर का मतलब अंतिम प्रायोगिक प्रदर्शन ऑब्जेक्ट रिसर्च है। इसे स्काईबोट F850 के नाम से भी जाना जाता है। यह आईएसएस पर अंतरिक्ष यात्रियों की सहायता करने के लिए 10 दिन सीखेगा। इसका मुख्य उद्देश्य उन ऑपरेशनों में उपयोग किया जाना है जो अंतरिक्ष यान पर और बाहरी अंतरिक्ष में मनुष्यों के लिए खतरनाक हैं। आईएसएस में अपने 10 दिनों के दौरान, यह बिजली के तारों को जोड़ने और डिस्कनेक्ट करने, पेचकश और स्पैनर से अग्निशामक के मानक वस्तुओं का उपयोग करने जैसे नए कौशल सीखेगा।


विशेषताएं:


यह मानव के आकार का है यानी 1.80 मीटर (5 फुट 11 इंच) लंबा और इसका वजन 160 किलोग्राम है।


यह मानव शरीर के आंदोलनों का अनुकरण कर सकता है। यह महत्वपूर्ण कौशल इसे अंतरिक्ष यात्रियों या यहां तक ​​कि पृथ्वी पर लोगों को कार्यों को पूरा करने में मदद करने की अनुमति देगा, जबकि मनुष्यों को एक्ज़ेकेलटन में जकड़ा हुआ है।


नोट: अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने खतरनाक वातावरण में काम करने के लिए 2011 में दुनिया का पहला ह्यूमनॉइड रोबोट रोबोनॉट 2 (R2) अंतरिक्ष में भेजा था।

यह भी पढ़ें

भारत-म्यांमार ने व्यक्तियों की तस्करी की रोकथाम के लिए द्विपक्षीय सहयोग पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कैबिनेट ने भारत-चिली के बीच दोहरे कराधान से बचाव समझौते को मंजूरी दी

2 अक्टूबर 2019 150 गांधी जयंती अहिंसा का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

HInd Classes

1630 Burj Usman Kha , 
khurja, (U.P) INDIA

+91 99 9782 8281

contact@hindclasses.in

  • Instagram - Grey Circle
  • Pinterest - Grey Circle
  • Facebook - Grey Circle
  • YouTube - Grey Circle

What can we help you with?

Hind Classes © 2017-19 All Right Reserved