एनआईओटी ने डीप सी एक्सप्लोरेशन एंड माइनिंग मिशन "प्रोजेक्ट समुद्रयान" लॉन्च किया

Posted On :-

Posted By :-

गहरे समुद्र क्षेत्र का पता लगाने के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओशन टेक्नोलॉजी (NIOT) 2021-22 तक समुद्रदर्शन परियोजना शुरू करेगा। यह केंद्रीय खनिज विज्ञान मंत्रालय का पायलट प्रोजेक्ट है, जिसमें दुर्लभ खनिजों के गहरे खनन के लिए 6000 करोड़ रुपये के 'डीप ओशन ’मिशन का हिस्सा है।


समुद्रायण परियोजना

यह गहरे पानी के नीचे अध्ययन करने के लिए लगभग 6000 मीटर की गहराई तक तीन व्यक्तियों के साथ स्वदेशी रूप से विकसित पनडुब्बी वाहन भेजने का प्रस्ताव करता है। यह NIOT, चेन्नई द्वारा किया जाएगा और 2022 तक अंतरिक्ष में अंतरिक्ष यात्री भेजने के इसरो के महत्वाकांक्षी 'गगनयान' मिशन के अनुरूप है। यह 2021-22 तक वास्तविकता बनने की उम्मीद है। इस परियोजना के हिस्से के रूप में विकसित स्वदेशी रूप से विकसित पनडुब्बी वाहन 72 घंटे के लिए 6 किमी की गहराई पर समुद्र के बिस्तर पर रेंगने में सक्षम है। जबकि, वर्तमान में तैनात पनडुब्बियां केवल 200 मीटर गहरे समुद्र में जा सकती हैं। इस परियोजना के चरण में और अधिक परीक्षण के साथ गहराई में जाना होगा और 2022 में महासागर खनन शुरू होने की उम्मीद है। इस महत्वाकांक्षी परियोजना का खर्च लगभग 200 करोड़ रुपये होने की उम्मीद है।


परियोजना का महत्व: यदि यह सफल होता है, तो भारत गहरे महासागरों से खनिजों की खोज में विकसित देशों की चयनित लीग में शामिल हो जाएगा। विकसित देशों ने पहले ही इस तरह के मिशन किए हैं। भारत इस तरह की परियोजना शुरू करने वाला पहला विकासशील देश हो सकता है।


पृष्ठभूमि

अंतर्राष्ट्रीय समुद्री बिस्तर प्राधिकरण (ISBA) ने सीबेड से बहुरूपी पिंडों की खोज के लिए भारत को मध्य हिंद महासागर बेसिन (CIOB) में 75,000 वर्ग किमी का स्थल आवंटित किया है। इस साइट में पॉलिमेटेलिक नोड्यूल का अनुमानित संसाधन लगभग 380 मिलियन टन है, जिसमें 92.59 मिलियन टन मैंगनीज, 4.29 मिलियन टन तांबा, 4.7 मिलियन टन निकल और 0.55 मिलियन टन कोबाल्ट है।

यह भी पढ़ें

भारत-म्यांमार ने व्यक्तियों की तस्करी की रोकथाम के लिए द्विपक्षीय सहयोग पर समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कैबिनेट ने भारत-चिली के बीच दोहरे कराधान से बचाव समझौते को मंजूरी दी

2 अक्टूबर 2019 150 गांधी जयंती अहिंसा का अंतर्राष्ट्रीय दिवस

HInd Classes

1630 Burj Usman Kha , 
khurja, (U.P) INDIA

+91 99 9782 8281

contact@hindclasses.in

  • Instagram - Grey Circle
  • Pinterest - Grey Circle
  • Facebook - Grey Circle
  • YouTube - Grey Circle

What can we help you with?

Hind Classes © 2017-19 All Right Reserved